Friday, May 14, 2021

मिलते हैं ऐसे भक्त से जिन्होंने Covid 19 संक्रमण को रोकने में सहायक आयुर्वेदिक दवा की सफल शोध किया

#ISKCONTalkshow​​ #spirituality​​ #HareKrsnaTV​​ #iskconlive​​ #Spirituality​​ #spiritualJourney​​ #Mumbai Hare Krishna!! आज हमारे पास "Ek Mulakat Krishna Bhakt Ke Sath" पर एक विशेष अतिथि है। "एक मुलाकात - कृष्ण भक्त के साथ" शो , आपके लिए दुनिया भर के कुछ सबसे प्रेरणादायक लोगों को लाता है। आज के एपिसोड के लिए, हमारे पास है, Dr Sonal Memane (Sonar Sakhi Devi Dasi) ***** About Dr Sonal Memane (Sonar Sakhi Devi Dasi) ***** 🔹 Dr Sonal Memane (Sonar Sakhi Devi Dasi) is senior Ayurveda consultant at Bhaktivedanta Hospital and Research institute. Since her childhood she was attracted to Bhagavad Gita. Her search towards truth later connected her to krishna consciousness in college and very soon she connected all her family members to the path of bhakti. Her art of balancing professional, spirituality, family and social life is source of inspiration for many. Along with her husband Dr Nanasaheb Memane (H.G.Nirmalchandra das) she joined Bhaktivedanta hospital and Research institute in Mira road in 2007 and since then both of them are in the service of humanity through Ayurveda. She regularly conducts workshops for schools, colleges and corporates on preventive health education to help the society. She works for woman and child health hence known as Garbhadhan samskar specialist - a science a healthy progeny. Presently during this Covid crisis along with her husband Dr Nanasaheb Memane she has conducted successful research on Ayurcoro3 in Covid 19. 🔷 डॉ सोनल मेमाने (सोनार सखी देवी दासी) भक्तिवेदांत अस्पताल और अनुसंधान संस्थान में वरिष्ठ आयुर्वेद सलाहकार हैं। बचपन से ही वह भगवत गीता की ओर आकर्षित थी। सच्चाई के प्रति उनकी खोज ने बाद में उन्हें कॉलेज में कृष्ण भक्ति से जोड़ा और बहुत जल्द उन्होंने अपने परिवार के सभी सदस्यों को भक्ति के मार्ग से जोड़ा। पेशेवर, आध्यात्मिकता, पारिवारिक और सामाजिक जीवन को संतुलित करने की उनकी कला कई लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत है। अपने पति डॉ नानासाहेब मेमाने (श्रीमान निर्मलचंद्र दास) के साथ वह 2007 में मीरा रोड में भक्तिवेदांत अस्पताल और अनुसंधान संस्थान में शामिल हुईं और तब से वे दोनों आयुर्वेद के द्वारा मानवता की सेवा कर रहे हैं। वह नियमित र���प से समाज की मदद करने के लिए निवारक स्वास्थ्य शिक्षा पर स्कूल कॉलेजों और कॉर्पोरेट्स के लिए सेमिनार का आयोजन करती है। वह महिला और बाल स्वास्थ्य के लिए काम करती है, इसलिए उन्हें गर्भाधान संस्कार विशेषज्ञ के रूप में जाना जाता है - जो एक स्वस्थ संतान है। वर्तमान में अपने पति डॉ नानासाहेब मेमाने के साथ इस कोविड संकट के दौरान, उन्होंने कोविड 19 में आयुरकोरो 3 पर सफल शोध किया है।
Powered by Blogger.